Krishna Ke Vishal Avatar Ki Kahani: उत्तंक ऋषि

Krishna Ke Vishal Avatar Ki Kahani: Uttanka Rishi
कृष्ण के विशाल अवतार की कहानी:  उत्तंक ऋषि


जब युधिष्ठिर को हस्तिनापुर के राजा का ताज पहनाया गया, तो कृष्ण ने द्वारका लौटने का फैसला किया।

अपने रास्ते में, वह उत्तंक नामक एक ऋषि से मिले। उन्होंने कृष्ण से युद्ध के बारे में पूछा।


कृष्ण ने उन्हें सब कुछ बताया। उत्तंक उग्र हो गए और बोले कि कृष्ण को युद्ध बंद करवा देना चाहिए था।

कृष्ण फिर अपने दिव्य रूप में प्रकट हुए और उत्तंक प्रसन्न हुए।

कृष्ण ने उसे वरदान मांगने के लिए कहा।

ऋषि ने कहा, "जब भी मुझे पानी चाहिए होगा, आप ले कर आओगे।


कृष्ण ने उत्तंक को आशीर्वाद दिया और चले गए।


कुछ दिनों बाद, उत्तंक एक रेगिस्तान में यात्रा कर रहा था और उसे प्यास लगी। इसके तुरंत बाद, उसे एक नीच जाति का व्यक्ति पानी के साथ दिखाई दिया।


उत्तंक ने उससे पानी लेने से इनकार कर दिया। बाद में, कृष्ण प्रकट हुए और उत्तंक को बताया कि वह व्यक्ति वास्तव में इंद्र थे।


उत्तंक को अपने व्यवहार पर बहुत शर्म आई।

                                                   

 श्री कृष्ण का शांति प्रस्ताव


जब संजय दुर्योधन को पांडवों के साथ समझौता करने और लड़ाई को रोकने के लिए मनाने में विफल रहे, तो कृष्ण ने खुद को पांडवों के दूत के रूप में हस्तिनापुर जाने और दुर्योधन को मनाने का फैसला किया।


हस्तिनापुर में कृष्णा का जोरदार स्वागत किया गया। कृष्ण ने दुर्योधन से कहा, "मैं पांडवों की तरफ से एक प्रस्ताव लेकर आया हूं।


अपने पूरे राज्य को मांगने के बजाय, वे सिर्फ पांच गांवों को ही मांग रहे क्योंकि वे शांतिप्रिय हैं और युद्ध को रोकना चाहते हैं।"


दुर्योधन ने उन्हें  उत्तर दिया, "पूरा राज्य मेरा है। मैं अपने राज्य में से पांडवों को एक सुई की नोक के बराबर भी भूमि नहीं दूंगा। आप हमेशा उन पांडवों के पछ में होते हो। मैं आपको कैद कर लूंगा।" उसने अपने सैनिकों को कृष्ण को कैद करने का आदेश दिया।


कृष्ण अपने ब्रह्मांडीय रूप में आए। यह देखकर हर कोई दरबार में डर गया। तब कृष्ण उन्हें धमकी दिए और दरबार छोड़ कर चल दिए।

Krishna Ke Vishal Avatar Ki Kahani, Krishna Ke Avatar Ki Kahani, Krishna Ke Uttanka Rishi se milne Ki Kahani, Uttanka Rishi,krishna,krishn,mythology kahani,
Krishna Ke Vishal Avatar Ki Kahani


✒️✒️✒️✒️✒️

.....

..... Krishna Ke Vishal Avatar Ki Kahani [ Ends Here ] .....


Comments