Story On Moral Values In Hindi: अंतिम डिलीवरी

Story On Moral Values In Hindi  का अंश:

युवक ने कुली के साथ बहस और सौदेबाजी की और अंत में 15 रुपये में समझौता कर लिया। कुली के पास खाने के लिए एक समय का खाना भी नहीं था, इसलिए उसे जितना भी पैसा मिल रहा था उसे मना नहीं कर पाया...। इस Story On Moral Values In Hindi को अंत तक जरुर पढ़ें...


दोस्तों अइ होप की आपको यह हिंदी में नैतिक मूल्यों पर कहानी जरुर पसंद आएगा। ऐसे ही और  Hindi Stories पढ़ने के लिए हमारे पोर्टल पर जरुर विजिट करें।

 #StoryHindi #StoryInHindi #MoralStoryHindi  #HindiKahani  #HindiStories 


short story on moral values in hindi, Story On Moral Values In Hindi, Hindi Story On Moral Values, story based on moral values in hindi


   Story On Moral Values In Hindi  

  अंतिम डिलीवरी   


एक कपल जो की बहुत ही अमीर थे, वह अपने घर पर एक बड़ी और शानदार नई साल की पार्टी देने वाले थे। 

इसलिए वे मॉल में खरीदारी करने को गए जहां सब कुछ महंगा और निश्चित मूल्य का था। वे अपने स्तर को बनाए रखना चाहते थे ताकि इससे समाज में उनकी मर्यादाऔर प्रतिष्ठा बनी रहे। 

अपनी ज़रूरत के सभी सामान खरीदने के बाद, उन्होंने एक कुली को सभी समान अपने घर तक ले जाने के लिए बुलाया। 

जो कुली आया, वह बुढा हो गया था, थोड़ा भी स्वस्थ नहीं लग रहा था, उसके कपड़े फटे हुए थे, ऐसा लग रहा था जैसे वह अपनी दैनिक जरूरतों को पूरा करने में सक्षम नही था।

उन्होंने कुली से पूछा की वह उनके घर तक सामान पहुंचाने का कितना रुपया लेगा। 

बूढ़े कुली ने अपनी गाड़ी से उनकी घर तक सामान पहुंचाने के लिए बाजार दर से कम कीमत पर महज 20 रूपए बोला। 


फिर भी, युवक ने कुली के साथ बहस की और सौदेबाजी की और अंत में 15 रुपये में समझौता कर लिया। 

कुली के पास खाने के लिए एक समय का खाना भी नहीं था, इसलिए उसे जितना भी पैसा मिल रहा था उसे मना नहीं कर पाया।

कपल यह सोचकर बहुत खुश थे कि उन्होंने गरीब कुली के साथ कितना अच्छा मोल भाव किया और उन्होंने उसे पहले से 5 रूपए कम का भुगतान किया।

उनलोगों ने कुली को सामान पहुँचने के लिए अपने घर का पता दिया और कुली को अकेले सामान लेकर घर आने के लिए छोड़ दिया। 

वे अपने घर पहुंच गये। उन्हें घर पहुंचे हुए कुछ समय बीत गए, फिर दो घंटे हो गए, लेकिन कुली अभी भी उनका सामान नही पहुंचा सका था।



पत्नी ने अपने पति पर गुस्सा करना शुरू कर दिया, “मैं आपसे हमेशा कहती हूं कि ऐसे किसी भी व्यक्ति पर विश्वास नही करना चाहिए, आप कभी भी मेरी बात नहीं मानते हैं।

ऐसा व्यक्ति जो एक दिन में 1 बार खाना खाने के लिए भी पैसा नही कमा पाता है, आपने उन्हें हमारी पार्टी के लिए खरीदी गई हर चीज सौंप दी। मुझे यकीन है कि वह यह सब हमारे घर पर पहुचाने के बजाय, वह सब कुछ लेकर गायब हो गया होगा। हमें तुरंत उसके खिलाफ शिकायत दर्ज करवाने के लिए मॉल और फिर पुलिस थाने जाना चाहिए।”

वे दोनों मॉल की ओर निकल पड़े। 

मॉल की ओर जाने वाले रास्ते में, उन्होंने एक और कुली को देखा। उन्होंने बूढ़े कुली के बारे में पूछताछ करने के लिए उसे जैसे ही रोका, तो उनकी नज़र उसकी गाड़ी पर गयी वह उनका सामान अपनी गाड़ी में ले जा रहा था! 

क्रोधित पत्नी ने उससे पूछा, “वह बुढा चोर कहाँ है? यह हमारा सामान है और वह इसे हमारे घर में देने वाला था। ऐसा लगता है कि आप सब लोग मिल कर हमारा सामान चुरा रहे हैं और उसे बेचने जा रहे हैं ”।


कुली ने जवाब दिया, “बहनजी, कृपया शांत हो जाइए। वह बेचारा बूढ़ा पिछले महीने से बीमार था। वह दिन के एक समय भोजन करने के लिए भी पर्याप्त कमाई नहीं कर पाता था। 

वह आपका सामान पहुंचाने के लिए रास्ते में ही था, लेकिन वह भूखा, बीमार, और चिंतित था, दोपहर की इस गर्मी में आगे बढ़ने की ताकत जुटा नही सका और वह नीचे गिर गया।

मैं  भी उसी रास्ते से गुजर रहा था। मैंने उन्हें निचे गिरे हुए देखा, वो मुझे अपनी ओर बुलाये और बोले यह लो 15 रूपए मैं ये आपको सौंपता हूँ, "मैंने इस डिलीवरी के लिए ये पैसा लिया है, आप इसे ले लें और कृपया इस पते पर पहुंचा दे"।

“बहनजी, वह भूखा था, वह गरीब था, लेकिन वह एक ईमानदार आदमी था। मैं बस आपके घर  तक उस बूढ़े आदमी के द्वारा लिए गये आखिरी डिलीवरी को पहुँचाने जा रहा हूँ। 

'' यह सुनकर, पति की आंखों में आंसू आ गए, और पत्नी को शर्म महसूस हुई, उसे अपने पति  और दूसरी कुली की आंखों में देखने का साहस नहीं हुआ।


Moral of the story: 

नैतिक: ईमानदारी का कोई वर्ग नहीं होता। किसी का वित्तीय और सामाजिक स्थिति की परवाह किए बिना सभी को सम्मान करें। जो अच्छा लगे उसे उसके काम के लिए सराहे।


..... Story On Moral Values In Hindi [Ends Here] .....


 Team The Hindi Stories: 

दोस्तों यदि आपको यह Story On Moral Values In Hindi: अंतिम डिलीवरी  कहानी पसंद आया है तो प्लीज कमेंट करके बताये और ऐसे और भी मोरल स्टोरी या हिंदी में नैतिक कहानियां,हिंदी स्टोरीज पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करना न भूलें |



Previous Post
Next Post
Related Posts