Story On Future Worries Hindi: भविष्य का डर

Story On Future Worries Hindi का अंश: 

पहले ही दिन लड़के ने 37 कील दीवाल में जड़ा। अगले कुछ हफ्तों में जब उसने अपने गुस्से को नियंत्रित करना सीख लिया, कीलों की संख्या हर दिन  धीरे-धीरे कम होती गई।...। इस Story On Future Worries Hindi को अंत तक जरुर पढ़ें...

दोस्तों अइ होप की आपको यह कहानी भविष्य की चिंता पर हिंदी नैतिक कहानी जरुर पसंद आएगा। ऐसे ही और Hindi Stories पढ़ने के लिए हमारे पोर्टल पर जरुर विजिट करें।

 #StoryHindi #StoryInHindi #MoralStoryHindi  #HindiKahani  #HindiStories 



bhavishy ka dar hindi kahani, future concern story in hindi, future fear hindi moral story, future worries stories for students in hindi, moral story hindi on future concern, story on future worries hindi,
Story On Future Worries Hindi




Moral Story On Future Worries Hindi

भविष्य का डर


एक गाव में एक आदमी रहता था वह मानता था कि वह सितारों में भविष्य पढ़ सकता है।

वह खुद को ज्योतिषी माना करता था और रात को आकाश में टकटकी लगाकर देखा करता था।
वह हमेशा भविष्य की चिंता में व्यस्त रहता था और ग्रामीण अक्सर उसके पास आते थे, यह जानने की उम्मीद में कि उनका भविष्य क्या है।

एक शाम वह गाँव में बाहर खुली सड़क पर टहल रहा था। उसकी निगाहें सितारों पर टिकी थीं। उसने असमान में देखा कि दुनिया का अंत निकट है। 

वह भविष्य के बारे में अपने विचारों में खो गया। वह सितारों को देख रहा था और नीचे ध्यान दिए बिना ही चल रहा था। अचानक से वह कीचड़ और पानी से भरी खाई में गिर गया।


वह कीचड़ से भरे पानी में डूब रहा था और बाहर निकलने के प्रयास में फिसलन वाले किनारों पर पंजा मारने की कोशिश कर रहा था।

वह अपने आप को वहां से निकाल पाने में असमर्थ था, वह मदद के लिए चिल्लाने लगा। मदद के लिए रोता सुन जल्द ही ग्रामीण दौड़ते हुए आये।


जैसा ही ग्रामीणों ने उसे कीचड़ से बाहर निकाला, उनमें से एक ने कहा, "आप कहते हैं की सितारों में भविष्य पढ़ सकते हैं, और फिर भी आप यह देखने में असफल रहें कि आपके पैरों के निचे क्या है! 

यह हादसा आपको यह सिखाता है की आप पहले अपने भविष्य पर ध्यान देने दें। तब किसी और की भविष्य देखें ”


उनमे से किसी और ने कहा, "इन सब क्या ही मतलब है जब आप सितारें पढ़ रहे है, और खुद पृथ्वी पर ही चिंतित होते हैं?"

Moral of the story: नैतिक 

नैतिक: हम सभी चाहते हैं कि हमारा भविष्य उज्ज्वल और खुशहाल हो, लेकिन किसी के लिए भी समय रुकता नही है।

 प्रत्येक कल आज में बदल जाता है, आपका वर्तमान भी आपके भविष्य का एक हिस्सा है। इसलिए बेहतर कल के लिए अपने वर्तमान जीवन का संतुलन बनाए रखें।



..... Story On Future Worries Hindi [Ends Here] .....

Team The Hindi Stories:


दोस्तों यदि आपको यह Story On Future Worries Hindi: भविष्य का डर पसंद आया है तो प्लीज कमेंट करके बताये और ऐसे और भी मोरल स्टोरी या हिंदी में नैतिक कहानियां,हिंदी स्टोरीज पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करना न भूलें | 

Comments